भृष्ट कोतवाल सत्येन्द्र सिंह को कालपी से हटाने के लिये विस अध्यक्ष हरमोहन ने उच्च अधिकारियों से दागे गम्भीर आरोप…

★अगर कोतवाल कालपी सत्येन्द्र सिंह राठौर नही हटे तो करेगें मुख्यमंत्री से शिकायत
★उक्त कोतवाल सपा सरकार के सपनों में पानी फेरते नजर आ रहे है

★कालपी विधानसभा अध्यक्ष हरमोहन सिंह यादव ने महानिरीक्षक कानपुर जोन, जिलाधिकारी जालौन तथा पुलिस अधीक्ष जालौन को भृष्टाचारी चिट्टा लिखा भेजा पत्र

कालपी (जालौन) कालपी कोतवाली कुछ महीनों से भृष्टाचार की भेंट चढ़ जाने से जंहा एक ओर युवा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के भय व भृष्टार मुक्त प्रदेश को करने के सपने में कालपी कोतवाल सत्येन्द्र सिंह राठौर पानी फेरते नजर आ रहे है। इतना ही नही सबसे कोतवाल सत्येन्द्र सिंह राठौर ने कालपी कोतवाली का चार्ज लिया है तब से कालपी नगर व क्षेत्र में कोतवाल सत्येन्द्र सिंह राठौर के संरक्षण में भारी पैमाने पर मादक पदार्थो का का प्रचलन तेजी से हो गया। इतना ही नही हाईकोर्ट व प्रदेश सरकार के निर्देश को भी ताक पर रखकर रात्रि में अबैध मौरम ट्रको को भारी सुविधा शुल्क लेकर कानपुर की ओर निकालने में महत्वपूर्ण भूमिका इस्पेक्टर जी निभाते है। जिसकी चर्चा आम है।

इतना ही नही सत्तारुढ़ समाजवादी पार्टी के तेज तर्रार विधानसभा अध्यक्ष हरमोहन सिंह यादव ने भी कोतवाल सत्येन्द्र सिंह राठौर के द्वारा भृष्टाचार रवैये के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। तथा उन्होने उनके कालेकार नामों का चिट्टा स्वर्ण अक्षरों में लिखे पत्र को पुलिस महानिरीक्षक कानुपर जोन व पुलिस अधीक्षक जालौन एंव जिलाधिकारी जालौन को भेजा है जिसमें उल्लेखित है कि कोतवाली कालपी में तैनात भृष्ट कोतवाल सत्येन्द्र सिंह जो पूर्व में उरई कोतवाली से भृष्टाचार के खुले आरोप में हटाये गयें थें। जो कालपी कोतवाली आते ही कालपी कोतवाली को भी भृष्टााचार का अड्डा बना दिया है। कोतवाली में आनें वाले शिकायतकर्ताओं व वादी प्रतिवादी से जमकर धन उगाही की जा रही है इतना ही नही नेशनल हाईवे पर जोल्हूपुर मोड़ से यमुना पुल तक रात में अबैध बालू के ट्रकों से हजारों रुपयें प्रति ट्रक से बसूली कर अबैध बालू खनन अंधाधुंध कराया जा रहा है। 

इतना ही नही उन्होने गम्भीर आरोप लगाते हुये उल्लेखित किया है कि कालपी कोतवाली को दलाल व सट्टा तथा जुआं संचालकगण आदि कोतवाली कालपी को चला रहे है। उन्ही के कहने पर लोगों को पड़का व छोड़ जाता है। कालपी कोतवाली अब कोतवाली नही दलाली, भृष्टाचार का अड्डा बन गई है। 

उसी पत्र में उन्होने कहा है कि लम्बे समय से कालपी कोतवाली में तैनात एसीपी उमेश सिंह व शिवनाथ सोनकर तैनात है जिनका थाना क्षेत्र के अबैध धंधा चलाने वाले माफियाओं से अच्छी सांठ-गांठ है जो थाने में बैठकर दिन भर कोतवाल के साथ मिलकर अबैध धंधा चलाने वालों से धन उगाही करते है तथा समस्त जनता का उत्पीड़न व शोषण करते है। तथा गौकसी के लिये गाय व भैसों के ट्रक निकलवा कर भारी धन उगाही करते है। यंहा तक कि छोटी मोटी शिकायतों व मोबाईल व बैग खो जाने जैसी तथा असलाहा लाईसेंस रिनूवल आदि के प्रार्थना पत्र बिना पैसा लिये नही किये जाते है कालपी कोतवाली में इस भृष्ट कोतवाल के रहते जनता व लोगों को न्याय दिलाने की सरकार की मंशा को वट्टा लग रहा है। तथा न्याय मिलना दूर हो गया है। जिससे सरकार की छवि धूमिल हो रही है।

सपा के विधानसभा अध्यक्ष हरमोहन सिंह यादव का यीह भी कहना है कि इस भृष्ट कोतवाल के खिलाफ कई बार मौखिक शिकायतें उच्च अधिकारियों से की गई है लेकिन कोतवाल को आज तक क्यो नही हटाया गया है यह मेरे समक्ष से परे है।

इतना ही नही उन्होने उक्त पत्र में चेतावनी देे हुये उल्लेखित किया है कि उक्त कोतवाल तथा उक्त दरोगाओं को तत्काल हटाने की कार्यवाली करें अन्यथा सरकार की छवि बचाने के लिये विकास रथ यात्रा के दौरान उप्र के लोकप्रिय युवा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से शिकायत की जायेगी तथा उक्त कोतवाल व दरोगाओं को हटवाने के लिये सपा कार्यकर्ताओं को आगे आने के लिये मजबूर होना पड़ेगा। जिसकी जिम्मेदार जिला प्रशासन की होगी। कालपी नगर मे चर्चा है कि अभी तक जितने पुलिस अधीक्षक जनपद में आये उन्होने कालपी कोतवाल सत्येन्द्र सिंह राठौर को कालपी कोतवाली से क्यों नही हटाया ? अब क्या नये पुलिस अधीक्षक उक्त भृष्ट कोतवाल को कालपी कोतवाली से हटाते है यह समय ही बतायेगा।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s