स्वीकृत हुआ रेल बजट , प्रस्तावित रेल लाइनों में जल्द शुरू होगा कार्य…

★गत बर्ष स्वीकृत रेल लाइनों के लिये बजट में हो धन की व्यवस्था’
★बुंदेलखंड में रेल विकास के लिये सांसद ने रेल मंत्री को दिया ज्ञापन
★मामला पिछले रेल बजट में स्वीकृत  कोंच-भिंड, उरई-महोबा रेल लाइनों का

उरई (जालौन) : रेल सेवा में नये आयाम जोडऩे के लिये समय समय पर अपनी बात रेल विभाग के संज्ञान में लाने बाले बार संघ कोंच के पूर्व बरिष्ठ उपाध्यक्ष सुनील लोहिया द्वारा रेल मंत्री को लिखे गये सात सूत्रीय मांग पत्र पर संज्ञापन लेते हुये इलाकाई सांसद भानुप्रताप वर्मा ने रेल मंत्री सुरेश प्रभु से मुलाकात कर उक्त मांग पत्र के संदर्भ में रेल मंत्री को पत्र दिया जिसमें बुंदेलखंड इलाके में रेल विकास को लेकर कई महत्वपूर्ण सुझाव दिये गये हैं। उनका खास फोकस पिछले रेल बजट में स्वीकृत भिंड-कोंच तथा उरई-महोबा के बीच नई रेल परियोजनाओं के लिये आगामी बजट में धन उपलब्ध कराने की मांग की गई है।
सात सूत्रीय मांग पत्र के विंदुओं पर अगर गौर करें तो साफ है कि अगर रेल मंत्रालय इन मांगों को मानता है तो बुंदेलखंड जैसे पिछड़े इलाके में रेल सुविधाओं को नई गति मिलेगी। सांसद भानुप्रताप वर्मा व मांगें उठाने बाले सुनील लोहिया ने बताया कि पिछले रेल बजट में स्वीकृत भिंड-कोंच के बीच 85 किमी दूरी के लिये 1600 करोड़ तथा उरई-महोबा के बीच 90 किमी दूरी के लिये 1800 करोड़ के बजट का आगणन किया गया था। इन दोनों नई रेल परियोजनाओं के लिये आगामी बजट में धन अवमुक्त कराने की महत्वपूर्ण मांग उठाई गई है। इसके अलावा निछले कई बर्षों से चली आ रही मांग पर रेलवे द्वारा किये गये सर्वेक्षण रिपोर्ट 29.12.2011 कोंच से फफूंद वाया जालौन 70 किमी को स्वीकृति देने तथा इस नई रेल लाइन के लिये धन की व्यवस्था किये जाने की भी मांग की गई है। इस मांग पत्र में एट जंक्शन से एरच होते हुये गुरसरांय के रास्ते मऊरानीपुर, सिद्घपीठ मां पीताम्बरा के दर्शनार्थ कोंच से समथर भांडेर के रास्ते दतिया तक रेल लाइनें बढाने की भी मांग उठाई गई है। झांसी-लखनऊ इंटरसिटी में बढती यात्रियों की संख्या के दृष्टिïगत चार सामान्य श्रेणी की बोगियां बढाये जाने के साथ एक रिवर्स इंटरसिटी चलाने की भी मांग शामिल है। इसके अतिरिक्त एट जंक्शन पर 12541 अप, 12542 डाउन, 12511 अप तथा 12512 डाउन गाडिय़ों के दो मिनट के ठहराव, झांसी-कानपुर रेल पथ पर छह मेमू ट्रेनों का संचालन तथा चिरगांव, मोंठ, उट, उरई, कालपी, पुखरायां स्टेशनों पर उनका ठहराव किये जाने, दैनिक यात्रियों व प्रशासनिक कार्यों से नित्य प्रति अप डाउन करने बालों के लिये कानपुर-झांसी के बीच एक नई ट्रेन अप-डाउन चलाने सहित कई और महत्वपूर्ण मांगें शामिल हैं।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s