​बिजली चोरी पर अंकुश लगाने में विफल रहा बिजली विभाग , मात्र 32 फीसदी घरों में ही हैं बिजली के कनेक्शन …

★बड़े फाल्ट की में वजह है बिजली चोरी

★जिले में दो लाख घरों में हो रही बिजली चोरी

★बिजली चोरी रोकने के विभाग के सभी प्रयास विफल

उरई,खबर आपकी :- बिजली चोरी रोकने के सभी प्रयास नाकाम साबित हो रहे हैं। हालत यह है कि तमाम प्रयासों के बावजूद भी अंधाधुंध बिजली चोरी पर अंकुश नहीं लग पा रहा है। इसकी एक मुख्य वजह विभागीय अधिकारियों व कर्मचारियों की मिलीभगत भी है। विभागीय आंकड़ों के मुताबिक जिले में मात्र 32 फीसदी घरों में ही बिजली के कनेक्शन हैं। बाकी 68 फीसदी घरों में बिजली की चोरी की जा रही है जिससे विभाग को प्रतिमाह करोड़ों रुपए की चपत लग रही है। इसे लेकर अधिकारी भी गंभीरता नहीं दिखा रहे हैं।
समय-समय पर बिजली विभाग द्वारा चलाए जाने वाले चेकिंग अभियान खोखले साबित हो रहे हैं। हालत यह है कि तमाम प्रयासों के बावजूद भी बिजली चोरी नहीं रुक पा रही है। विभागीय आंकड़ों पर नजर डालें तो जिले में मात्र 32 फीसदी घरों में ही बिजली के कनेक्शन हैं। वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार जिले में दो लाख 87 हजार 290 मकान हैं जिसमें मात्र 91 हजार 630 घरों में कनेक्शन हैं। इनमें शहरी क्षेत्र के 61 फीसदी व ग्रामीण क्षेत्र के 25 फीसदी घरों में ही बिजली के कनेक्शन हैं। बाकी घरों में चोरी से बिजली का उपयोग किया जा रहा है। बिजली चोरी रोक पाने में विफलता का एक कारण विभागीय अधिकारियों व कर्मचारियों की मिलीभगत भी है। इसके चलते बिजली विभाग को प्रतिमाह करोड़ों रुपए की चपत लग रही है। यह आंकड़ तो केवल घरों में उपयोग होने वाली बिजली के हैं। इसके अलावा विभागीय अधिकारियों की मदद से जिले में सैकड़ों छोटे-छोटे कारखाने बड़े पैमाने पर बिजली की चोरी करने में जुटे हैं। हालांकि समय-समय पर अभियान तो चलाया जाता है पर यह अभियान मात्र औपचारिकताओं में निपट कर रह जाते हैं।

अंडरग्राउंड लाइन बिछने के बाद लगेगा अंकुश

बिजली चोरी रोकने, फाल्ट व अन्य समस्याओं को दूर करने के लिए उरई शहर में अंडर ग्राउंड बिजली लाइन बिछाने का काम किया जा रहा है। यह काम पूरा होने के बाद शहर में बिजली चोरी पर बड़े स्तर पर अंकुश लग जाएगा और इससे विभाग को राजस्व का फायदा होगा। हालांकि इस काम को पूरा होने में अभी डेढ़ से दो माह का वक्त लगने का अनुमान है।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s