शहर तथा क्षेत्र में सट्टा की विकरालता से हजारो युवा तबाही की कगार पर …

➤ नागरिको द्वारा कई वार उच्च अधिकारियों से की जा चुकी शिकायत
कालपी (जालौन)। ऐतिहासिक धर्म की नगरी कालपी में आज कल अधिकांश मुहल्लो में अबैध सट्टा (मटका) का कारोबार तेजी से फलफूल रहा है सट्टा के इस काले बाजार के चंुगुल में फंसकर नगर के सैकड़ो युवा बर्वाद हो चुके है वही हजारो की संख्या में सट्टा के लती पुरूष, महिलाये बर्वादी की कगार पर पहुंचते जा रहे है। तथा सट्टा के अबैध व्यापार को मूक बढ़ावा मिल रहा है। जिसकी कई बार नागरिको द्वारा इसकी शिकायत उच्च अधिकाारियों से की जा चुकी है। इस काले अबैध धंधे से प्रशासन भी अवगत है। विवरण के अनुसार कालपी नगर के मुहल्ला हरीगंज, महमूदपुरा, राजघाट, रावगंज, मनीगंज, कागजीपुरा, इन्दिरा नगर, सदर बाजार, भट्टीपुरा, टरननगंज, आलमपुर, जुलैहटी, रामगंज समेत कई चिन्हित स्थानो पर खुलेआम सट्टा का अबैध कारोबार फलफूल रहा है इन सट्टा के अड्डो पर प्रतिदिन हजारो की संख्या में लोग एकत्र होकर अपनी बर्वादी को दावत दे रहे है। इतना ही नही नगर के अलावा ग्रामीणांचल में भी इस कारोवार के पैर फैलने से महेवा ब्लाक के गांव मगरौल, शेखपुर गुढा, गुढाखास, हीरापुर, मैनूपुर, देवकली, कीरतपुर आदि दो दर्जन गांवो के होनहार युवा लड़के इस काले धन्धे में लिप्त होते जा रहे है तथा वही उनके माता पिता अपने अपने बच्चों को मेहनत मजदूरी कर करके पढाते है और अपने मन में जिज्ञासा रखते है कि मेरा बेटा बडा होकर तथा पढ लिखकर अच्छी नौकरी करेगा और आगे चलकर मेरा बेटा बुडापे का सहारा बनने के साथ साथ देश की सेवा करेगा जिससे मेरा नाम रोशन होगा लेकिन इस काले धन्धे के आगे सब पानी फिरता नजर आ रहा है।
आपको बता दे कि सट्टा (मटका) के इस अबैध कारोबार में 100 अंक होते है जिसमे एक नम्बर धन लगाने वाले का होता है शेष 99 अंक सट्टा के कारोबारियो के होते है पता चला है कि 5 रूपये में धन लगाने वालो को नम्बर आने पर 450 रूपये और 10 रूपये में 950 रूपये मिलते है और सट्टा निकलने का अंक दिल्ली से निर्धारित किया जाता है तथा 50 रूपये उन दलालो को दिये जाते है जो सट्टा तक फंसाकर युवाओ और युवतियो को प्रेरित करते है और सट्टा के अड्डो पर नगर तथा क्षेत्र के कई दलाल, वर्दीदारी, सफेदपोश भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराकर धन अर्जित करते है जो पूरे दिन की बसूली का रुपया एकत्रित किया जाता है वह जिला पुलिस प्रशासन व स्थानीय पुलिस प्रशासन के नाम पर होता है। सट्टा के इस अबैध व्यापार से शहर तथा क्षेत्र के सैकड़ो परिवार बर्वाद हो चुके है और हजारो परिवार बर्वादी की कगार पर पंहुच गये है। शहर तथा क्षेत्र के समाजसेबियो का कहना है कि यदि समय रहते शहर तथा क्षेत्र में सट्टा बंद न हुआ तो हजारो परिवार बर्वाद होकर तबाह हो जायेगे।

आखिर इस काले धंधे का मास्टर कौन
सबसे सोचनीय विन्दु यह है कि इस काले कारनामे का मास्टर कौन है जो इस ईमानदारी का चोला ओढ़ने वाली सरकार में यह अबैध कारोवार करने में कामयावी हासिल कर रहा है। चर्चा है कि कालपी का ही नागरिक है जो इसका मास्टर है जिसका नाम किसी से छिपा नही है।

बोले अपर पुलिस अधीक्षक –
जनपद के तेज तर्रार तथा बेहद ईमानदारी की छवि को बरकरार रखने वाले अपर पुलिस अधीक्षक सुभाषचंद्र शाक्य का कहना है कि तत्काल प्रभाव से इस कारोबार को बन्द कराया जायेगा तथा इस कारोवार में लिप्त लोगो के विरूद्ध कडी कार्यवाही की जावेगी जिसकी गोपीय जांच कराई जा रही है।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s