कोंच में जोरदार स्वागत हुआ पीएम मोदी की पत्नी जसोदाबेन का …

◆ अच्छा काम कर रहे हैं प्रधानमंत्री जी-जसोदा बेन
◆ कोंच में जोरदार स्वागत किया गया प्रधानमंत्री की पत्नी जसोदा बेन मोदी का

कोंच। राजनैतिक कार्यक्रमों से दूरी बनाये रखने बाली प्रधानमंत्री नरेन्द्र भाई मोदी की पत्नी जसोदा बेन मोदी सामाजिक कार्यों में बढ चढ कर हिस्सा ले रहीं हैं। माधौगढ में राठौर समाज द्वारा आयोजित सामूहिक विवाह सम्मेलन में शिरकत करने आईं जसोदा बेन जब कोंच से होकर निकलीं तो यहां के लोगों ने उन्हें हाथों हाथ लेते हुये उनका जोरदार स्वागत किया। नईबस्ती स्थित प्रेमकिशोर पुरुषोत्तम राठौर के आवास पर पहुंची जसोदा बेन ने हालांकि न तो पत्रकारों से ही बात की और न ही लोगों को कोई संदेश दिया लेकिन जाते जाते जब पत्रकारों ने प्रधानमंत्री के कामकाज के बारे में सवाल उछाला तो उन्होंने छोटा सा उत्तर देते हुये कहा कि प्रधानमंत्री जी देश के लिये अच्छा काम कर रहे हैं।

देश की जानी मानी महिला और समाज के कामों में बढ चढ कर भागीदारी करने निकली प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पत्नी जसोदा बेन मोदी आज कोंच में प्रेमकिशोर पुरुषोत्तम राठौर के आवास पर आतिथ्य ग्रहण करने पहुंचीं। यहां राठौर परिवार तथा आस पड़ोस की महिलाओं राजकुमारी, गुड्डन राठौर, मुन्नीदेवी, ज्योति, सोनम, आराधना, आशा, नैन्सी, धन्वंती, ब्रजेशी कुशवाहा, राजेश्वरी यादव, आनंदी, मिताली, गुलाबरानी, मोहिनी, प्रीती, डिंकी, अंजू अग्रवाल, कमला उपाध्याय, नानक राठौर आदि ने बुके भेंट कर उनका बड़ी गर्मजोशी के साथ स्वागत किया और उन्हें उपहार भी भेंट किये। यहां के आर्टिस्ट बल्ला बेग ने उनका स्वनिर्मित चित्र भेंट किया। समाजसेवी सुनील लोहिया ने उन्हें रेल समस्याओं को लेकर ज्ञापन भेंट किया। इस दौरान जसोदा बेन ने भाषण भीषण से काफी दूरी बना कर रखी, यहां तक कि न तो वे मीडिया बालों से ही मुखातिब हुईं और न ही आम जन को किसी भी प्रकार का संबोधन या संदेश देने का प्रयास किया, अलबत्ता जब वे अपनी गाड़ी में बैठने को हुईं तो एक पत्रकार ने प्रधानमंत्री को लेकर एक सवाल उछाल ही दिया जिस पर उन्होंने हल्की मुस्कुराहट के साथ सिर्फ इतना कहा कि प्रधानमंत्री जी देश के लिये अच्छा काम कर रहे हैं। गौरतलब है कि जसोदा बेन के आगमन को लेकर काफी दिनों से तैयारियां चल रहीं थीं और आयोजक धर्मेन्द्र राठौर, राहुल राठौर तथा उनके समर्थकों ने उनके स्वागत को ऐतिहासिक बनाने में कोई कोर कसर नहीं उठा रखी थी। उनके आगमन मार्ग को ऋषभ गुप्ता, ऋतिक याज्ञिक, अनिल कुशवाहा, हिमांशु पटेल, कृष्णा सोनी आदि द्वारा रंगोलियों से सजाया संवारा गया था, जगह जगह तोरण द्वार बनाये गये थे। कोंच में प्रवेश करते ही जसोदा बेन जिंदाबाद के नारों से आसमान गूंज उठा। इस मौके पर जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि देवेन्द्रसिंह छुन्ना, पालिका चेयरपर्सन प्रतिनिधि विज्ञान विशारद सीरौठिया, दरिद्र नारायण सेवा समिति के संयोजक कढोरेलाल यादव, सरनामसिंह यादव, अजय रावत, अतुल शर्मा, अभिषेक रिछारिया, प्रदीप मेडिकल, कल्लू कनकने, डॉ. ब्रजमोहन राठौर, राहुल तलवाड़, अशोक राठौर, देवेन्द्र कौशिक, हिमांशु राठौर, नितिन राठौर, रामबाबू बाबूजी, राहुल, राजुल अग्रवाल, गोविंदसिंह राठौर, रामविहारी राठौर, अमित उपाध्याय, नरेश वर्मा, अनिल अग्रवाल, विनोद लोहई, मोहम्मद हबीब, करुणानिधि शुक्ला, अटल दतियाबाले, दौलत तुसेले, लकी अग्रवाल सहित तमाम लोग मौजूद रहे। इससे पूर्व रास्ते में पडऩे बाले ग्राम पनयारा में भी उनका जोरदार स्वागत किया गया और उन्हें रोहित राठौर द्वारा चांदी का मुकुट पहनाया गया।

देखते ही देखते हटा लिया गया वीआईपी ट्रीटमेंट

कोंच। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पत्नी जसोदा बेन के कोंच में प्रेमकिशोर पुरुषोत्तम राठौर के आवास पर आने से पूर्व पूरा प्रशासनिक अमला और पुलिस की फौज वहां रह कर व्यवस्था देखने में लगे थे लेकिन इसी बीच जसोदा के आने से ठीक पंद्रह मिनट पूर्व अचानक अधिकारियों के फोन घनघनाने लगे और देखते ही देखते वहां मौजूद अधिकारी यहां तक कि पुलिस के सभी सिपाही वहां से फुर्र हो गये। सब कुछ इतना अचानक हुआ कि लोग समझ ही नहीं सके कि क्या हुआ, लेकिन बाद में सूत्रों से मिली जानकारी में बताया गया कि ऊपर से इस तरह के आदेश जारी किये गये हैं कि जसोदा बेन को मिलने बाला वीआईपी ट्रीटमेंट वहां से तुरंत हटा लिया जाये और ऐसा ही हुआ भी।

भाजपाई भी दूरी बनाते दिखे जसोदा के कार्यक्रम से

कोंच।ऐसा लगता है जैसे भाजपा उच्च कमान की सख्त हिदायत है भाजपाइयों को कि जसोदा बेन मोदी के कार्यक्रमों में बिल्कुल भी नहीं जाना है। यहां भी कुछ ऐसा ही हुआ कि जसोदा के आने से पहले भाजपा के जो स्थानीय नेता और कार्यकर्ता वहां मौजूद थे वे कार्यक्रम आयोजक को अपनी शक्ल दिखा कर हाजिरी भरवाने वहां पहुंचे थे और जैसे ही जसोदा बेन के कार्यक्रम स्थल पर पहुंचने की लोकेशन मिली, भाजपाई भी गधे के सिर के सींगों की तरह वहां से गायब हो गये। सांसद और विधायक भी लोकल के होने के बाबजूद वहां नहीं पहुंचे जिसका सीधा मजलब निकाला गया कि ऊपर बालों की भी बात रह जाये और व्यवहार भी न खराब हो क्योंकि आयोजक धर्मेन्द्र राठौर भाजपा का एक कर्मठ कार्यकर्ता भी है।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s