​आईजी जोन ने फरियादी बनकर किया फोन, एसपी ने लगा दी फटकार …


…साहब हम कानपुर से बोलत हैं…, हमरे भाई के कमरौली में बदमाश मार डाले रहेन, अब हमका धमकी देत हैं। इस तरह फरियादी बनकर कप्तानों का इम्तिहान ले रहे आईजी जोन ने शुक्रवार सुबह अमेठी के एसपी अनीस अहमद अंसारी को उनके सीयूजी नंबर पर कॉल की। 

कप्तान बोले कि उस मामले में तो कार्रवाई हो चुकी है, चार लोग जेल जा चुके हैं। बात आगे बढ़ाने से खफा एसपी बोले कि तुम पढ़े-लिखे नहीं हो क्या? इस पर आईजी ने फोन काट दिया। आईजी ने लखनऊ जोन के 11 में से नौ जिलों के कप्तानों को कॉल करके जायजा लिया। 

सीतापुर के एसपी ने अपना सीयूजी फोन गनर को थमा रखा था। हरदोई के एसपी ने कॉल रिसीव करके मोबाइल अपने पेशकार को थमाया, जबकि खीरी के एसपी ने जंगल कटान की शिकायत को वन विभाग पर टाल दिया।

कुछ टेस्ट में हुये पास :

आईजी जोन ए सतीश गणेश ने कप्तानों का रवैया जानने के लिए एक मोबाइल फोन से सबसे पहले सुल्तानपुर के एसपी रोहन पी कनय को कॉल की। 

कहा, साहब पटीदार हमरी जमीन पर कब्जा करत है, चंदापुर एसओ साहब हमार नाहीं सुनत हैं …बतावा हम का करी, हमार कतौं सुनवाई नाहीं होत बा। साहब हमार मदद कई दो…। एसपी बोले, धैर्य रखो तुम्हारी पूरी सुनवाई होगी। अभी मैं परेड में हूं।

हमारे ऑफिस आकर बताओ क्या समस्या है। इसके बाद अमेठी कॉल की, फिर सीतापुर के एसपी का सीयूजी नंबर डॉयल किया। मोबाइल फोन गनर के पास था। दो बार कॉल के बाद भी एसपी से बात नहीं हुई। 
पत्रकार बनकर भी की बात :

अंबेडकरनगर के एसपी ने कॉल तो रिसीव की पर डीआईजी के मुआयने की जानकारी देते हुए कहा कि अर्जेंट हो तो आज ही आओ, वरना कल दफ्तर में आना।

इसके बाद लखीमपुर खीरी के एसपी शिवासिम्पी चन्नपा को कॉल की। इस बार फरियादी के बजाय मुखबिर के रूप में आईजी आवाज बदलकर बोले- साहब संपूर्णानगर के जंगल में कटाई हो रही है। माजरा समझे बगैर कप्तान ने वन विभाग को कॉल करने की सलाह दी, फिर बोले देखते हैं और फोन काट दिया। 

 उन्नाव की एसपी नेहा पांडेय ने दो बार कॉल तो रिसीव की लेकिन बात नहीं हो सकी। एक अन्य नंबर से आईजी ने पत्रकार बनकर जानकारी मांगी तो एसपी ने पूरा ब्यौरा बताया। 

लखनऊ के एसएसपी हुए पास :

राजधानी के एसएसपी दीपक कुमार भी कप्तान के इम्तिहान में पास हुए, जबकि हरदोई के एसपी विपिन मिश्रा ने कॉल रिसीव की और शिकायत नोट कराने की बात कहकर मोबाइल फोन अपने पेशकार को थमा दिया। 

रायबरेली के एसपी गौरव सिंह को एक पुरानी वारदात के वादी बताकर कॉल की। एसपी ने वारदात के जल्द खुलासे का भरोसा दिलाया, बोले कि कभी भी ऑफिस में आकर अपनी बात कह सकते हो। 

अच्छा र‌िस्पांस देने वालों को इनाम :

आईजी ने बताया कि बाराबंकी के एसपी छुट्टी पर थे और फैजाबाद के एसएसपी के एक घटनास्थल पर होने की वजह से बात नहीं हो सकी। 

इम्तिहान में एसएसपी लखनऊ के साथ रायबरेली, अमेठी, सुल्तानपुर, हरदोई, उन्नाव, अंबेडकरनगर के कप्तान पास और सीतापुर व खीरी के कप्तान फेल हुए। अनजान नंबर से कॉल का अच्छा रिस्पांस देने वाले कप्तानों को प्रशस्तिपत्र दिया गया है

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s