नारद के जीवन और कार्यों से प्रेरणा लें पत्रकार-मूलचंद्र निरंजन

★ मदर्स प्राइड स्कूल सभागार में पत्रकारों ने मनाई नारद जयंती
★ बोले तहसीलदार, समाज के अंतिम व्यक्ति के उत्थान के विमर्श को स्थान दें खबरों में


कोंच/जालौन । मदर्स प्राइड एलीमेंट्री स्कूल के सभागार में पत्रकारों ने ‘आदि पत्रकार’ देवर्षि नारद की जयंती धूमधाम के साथ मनाई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि माधौगढ विधायक मूलचंद्र निरंजन ने इस अवसर पर पत्रकारों से कहा कि वे समाज में व्याप्त कुरीतियों और सामाजिक अव्यवस्थाओं के खिलाफ अपनी कलम पूरी जोरदारी के साथ तो चलायें लेकिन यह भी ध्यान रखें कि उनके लेखन में अति रंजना का समावेश न हो। जिस तरह से देवर्षि नारद ने निर्लिप्त और निर्विकार भाव से केवल व्यापक लोक कल्याण को सामने रख कर अपने कार्यों को अंजाम दिया ठीक उसी तरह पत्रकारों को भी सच्चाई के इर्द गिर्द रह कर सत्य का ही उद्घाटन करना चाहिये।


बरिष्ठ पत्रकार प्रेस क्लब अध्यक्ष प्रियाशरण नगाइच की अध्यक्षता, इलाकाई विधायक मूलचंद्र निरंजन के मुख्य आतिथ्य तथा तहसीलदार भूपाल सिंह, पालिका चेयरपर्सन प्रतिनिधि विज्ञान विशारद सीरौठिया के बिशिष्टï आतिथ्य में संयोजित आदि पत्रकार देवर्षि नारदजी की जयंती पर नगर के विद्वान पं. लल्लूराम मिश्रा शास्त्री, पं. रामसिया तिवारी एवं ने वैदिक रीति से देवर्षि नारद का पूजन कराया एवं लोक कल्याण की कामना की। 

मदर्स प्राइड के संस्थापक विनोद पांडे ने अतिथियों की अगवानी की। आयोजित संगोष्ठी को संबोधित करते हुये उन्होंने कहा कि देवर्षि नारद वास्तव में ऐसे पत्रकार हैं जो समस्याओं को लेकर हमेशा संवेदनशील रहे हैं और उनका निदान कराने के उपाय भी उन्होंने खोजे। उन्होंने कहा कि जिस तरह से नारद अहंकार से दूर रह कर लोक कल्याण में निमग्न रहते हैं ठीक उसी प्रकार पत्रकारों को भी उनके अनुसार आचरण अपने में ढालने का प्रयास करना चाहिये। 

संचालन पत्रकार डॉ. मृदुल दांतरे ने किया, आभार बरिष्ठ पत्रकार रमेश तिवारी ने ज्ञापित किया। बिशिष्ट अतिथि तहसीलदार भूपाल सिंह ने लोकतंत्र के चौथे स्तंभ मीडिया की भूमिका महत्वपूर्ण बताते हुये कहा कि आज आजादी के सत्तर साल बाद भी समाज के उस व्यक्ति जो अंतिम पायदान पर बैठा है, की बेहतरी के लिये न तो राजनैतिक स्तर से और न ही किसी अन्य स्तर से कोई ठोस पहल हो सकी है लिहाजा ऐसे में उस अंतिम व्यक्ति को लेकर विमर्श की पहल को मीडिया में जगह मिलनी ही चाहिये।उन्होंने यह भी जोड़ा कि ‘नारद’ वस्तुत: सत्य संभाषण की ऐसी परंपरा का नाम है जो अनादि काल से चली आ रही है। 

पालिका चेयरपर्सन प्रतिनिधि विज्ञान विशारद सीरौठिया ने कहा कि यदि पत्रकारों को उनके कामों में कहीं गलतियां दिखाई देती हैं तो एक बार उनके संज्ञान में जरूर लायें ताकि उनमें सुधार किया जा सके और फिर भी अगर सुधार परिलक्षित न हो तो उनकी आलोचना करने के लिये वे स्वतंत्र हैं। संगोष्ठी को अमरचंद स्कूल के प्रबंधक सरनाम सिंह यादव, पूर्व बारसंघ अध्यक्ष विनोद अग्निहोत्री, ब्रजबल्लभसिंह सेंगर, सुनील लोहिया आदि ने भी संबोधित किया। इससे पूर्व अतिथियों ने मां सरस्वती और देवर्षि नारद के चित्रों का पूजन कर कार्यक्रम को गति प्रदान की, आयोजन समिति के सदस्यों ने मंचस्थ अतिथियों का स्वागत किया।पूर्व प्राचार्य प्रो. वीरेन्द्र सिंह, दरिद्र नारायण सेवा समिति के संयोजक कढोरेलाल यादव, ब्रजेन्द्र मयंक, पुरुषोत्तमदास रिछारिया, ओम प्रकाश उदैनिया, ब्राह्मण महासभा के अध्यक्ष देवीदयाल रावत, सनाढ्य सभा के अध्यक्ष मनोज दूरवार, क्रय विक्रय समिति के अध्यक्ष हरिश्चंद्र तिवारी, सुनील लोहिया, धर्मादा रक्षिणी सभा के अध्यक्ष सोहन वाजपेयी, संजय सोनी, अंजनी श्रीवास्तव, अतुल चतुर्वेदी, पत्रकार संदीप अग्रवाल, विहिप अध्यक्ष सुशील दूरवार, भाजपा महामंत्री अमित उपाध्याय, सुनीलकांत तिवारी, सुनील शर्मा, आनंद पांडे, आदित्य पांडे, नरोत्तम दास स्वर्णकार, राहुल तलवाड़, पवन अग्रवाल, रोहित राठौर, तरुण निरंजन, हरीमोहन याज्ञिक, अभिषेक रिछारिया, राजेन्द्र यादव, रूपेश तिवारी, वरुण सेठ, रवि दुवे,  राहुल राठौर, दुर्गेश कुशवाहा, ऋषि झा, जितेन्द्र सोनी, सभासद श्यामदास ककइया, सौरभ झा, पुष्पेन्द्र दुवे, शैलेन्द्र पटैरया, दिलीप पडऱी, नवीन कुशवाहा, जितेन्द्र कुशवाहा, हरीओम याज्ञिक, नरेन्द्र दुवे, नंदलाल चौरसिया नदीगांव आदि उपस्थित रहे।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s