अतिक्रमण अभियान में दिखी सख्ती, अतिक्रमण पर गर्जी जेसीबी …

★ रामगंज बाजार की लापता नालियों को खोजने के निर्देश दिये नपा को
★ अधिकारियों के पीठ फेरते ही दोबारा जम गये अस्थाई अतिक्रमण

【रिपोर्ट @ पी.डी.रिछारिया】

कोंच/जालौन,खबर आपकी। दो दिन पूर्व टांय टांय फिस्स रहे अतिक्रमण अभियान से सबक लेकर आज अधिकारी पूरी तरह से सख्त दिखे, बाजार में चले अभियान के दौरान जेसीबी मशीन बिना किसी को पहचाने जब गरजती चली गई तो दुकानदारों के चेहरों पर परेशानी साफ दिखी। रामगंज बाजार की लापता नालियां खोज निकालने के निर्देश अधिकारियों ने पालिका को देते हुये कहा कि बुधवार को साप्ताहिक बंदी के दिन नालियां खुलवायें, नाली से नाली बिल्कुल साफ दिखनी चाहिये।

कोर्ट के कड़े निर्देशों पर शनिवार को अतिक्रमण हटवाने के लिये अधिकारियों में भी कड़क पन साफ दिखा, अतिक्रमण हटवाने में पूर्व में लगते रहे पक्षपात के आरोपों से सबक लेकर अधिकारियों ने बिना किसी की सुने एक तरफ से जब जेसीबी की सूंड़ पटकनी शुरू की तो बाजार में हड़कंप मच गया। दुकानदार बस ये…ये करते ही रह गये और जेसीबी अपना काम निपटा गई। एसडीएम सुरेश सोनी की अगुवाई और सीओ नवीन कुमार नायक की मौजूदगी में पालिका ईओ रवीन्द्रकुमार, सेनेट्री इंसपेक्टर अभयसिंह सफाई कर्मियों की पूरी दलेल लेकर पहले रामगंज बाजार में पहुंचे और बड़ी ही बेदर्दी से पसरे अतिक्रमण को नेस्तनाबूत कर दिया। वहां नालियां नदारत देख अधिकारियों की त्यौरियां चढ गईं और नपा से पूछा कि नालियां कहां गईं तो नपा कर्मचारी भी सकपका गये। 

एसडीएम ने सेनेट्री इंसपेक्टर को कड़े निर्देश दिये कि बुधवार साप्ताहिक बंदी के दिन लापता नालियों की खोज पूरी कर उन्हें इत्तिला करें। इसके बाद वहां से संकरे में से चल कर सर्राफा बाजार में पहुंचे अधिकारियों ने दुकानों के आगे लटके छज्जों पर जेसीबी पटकने के निर्देश जब दिये तो वहां दुकानदारों की हालत देखाने लायक हो गई थी। कुछ दुकानदार अपने निर्माण जायज ठहराते हुये बहस मुबाहिसे पर भी उतरे लेकिन अधिकारियों ने एक की भी नहीं सुनी और एक तरफ से अतिक्रमण साफ करा दिया। 

आज मानिक चौक, वर्तन बाजार आदि में भी अतिक्रमण हटाया गया लेकिन अधिकारियों के पीठ फेरते ही अस्थाई अतिक्रमण बैंचें आदि फिर से दुकानदारों द्वारा जमा दी गईं। एसडीएम ने अतिक्रमण कारियों को एक बार फिर वार्निंग देते हुये कहा कि यह अभियान रोज चलेगा और किसी भी अतिक्रमण को बख्शा नहीं जायेगा लिहाजा यदि नुकसान से बचना है तो स्वत: ही अपने अतिक्रमण हटा लें।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s