घटिया निर्माण कार्य के भेंट चढ़े शौचालय …

★खुले में शौच करने जा रहे ग्रामवासी

★शमसान घाट में भी बनबा डाले शौचालय

★सरपंच सचिव का कारनामा शौचालय की राशि को लगाया लगाया ठिकाने
नौगाँव/छतरपुर : विकास खंड क्षेत्र के आने वाली ग्राम पंचायत रगोली  में स्वच्छ भारत अभियान के अंतर्गत बनाये गये अधिकांश शौचालय भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गये है। ग्राम में महिलाओं एवं पुरुषों से लेकर बच्चे तक खुले में शौच जाने मजबूर नजर आ रहे है। शौचालय उपयोग में आने से पहले ही धराशाही  होकर न सिर्फ यहाँ किये गये भ्रष्टाचार की कहानी को बयां कर रहा है बल्कि यहाँ के लोगो के साथ हुई ठगी के कारनामो की भी पोल सहज रूप से खुल रही है। ग्राम पंचायत रगोली में जब पत्रकारो की  टीम ने निर्मित शौचालयों का जायजा लिया तो ऐसे कई शौचालय सामने आए जो जमीदोज हो गए तो कही छप्पर नही है तो कही किराने की दुकान खुली हुई नजर आ रही है यहाँ स्थानीय हितग्राही चन्द्रभान कुसबाहा  ने बताया की मेरे ब मेरे दो भाईयो के  3 शोचालए बनबाये गए थे और और मेरे खाते में 12000 हजार रूपये की राशि मेरे खाते में डाली गई थी जो सरपंच ने मुझसे सोचालय बनबाने के ले लिए थे जब चन्द्रभान  कुसबाहा न जब अपनी पूरी बात बताई की सोचालय 3 बनबाये गए और गड्डा 1 ही खुदबाया गया था और बहुत ही घटिया तरीके से बनबाये गए थे जिसको इस्तेमाल करने से ही पहले धरासायी होते नजर आ रहे है और जब ग्राम के लोगो ने नाम न छापने की सर्त पर बताया की सरपंच सचिव ने तो शमसान घाट  में भी सोचालय बनबा दिए जहा कोई भी सोच करने के लिए नहीं जाता है ग्राम में कई घरों में सोचालय नहीं बने है मंगर समसान घाट में सोचालय क्यों बनबाये गए । अपने निजी स्वार्थ के चलते ब सोचालय की राशि का बँटरबाट किया गया जो गम्भीर जांच का बिसय है ।

b510324a-df53-4526-953c-9ff259eef85dस्वछता अभियान को लगा दिया पलीता :

पोर्टल पर अंकित जानकारी के अनुसार  ग्राम पंचायत में शौचालय का निर्माण किया गया है। जबकिं मौजूदा हालातो पर नजर दौड़ाई जाये तो इनमें अधिकांश तो जमीदोज हो चुके है बाकि शेष बचे शौचालयों के निर्माण में बरती गई लापरवाही की वजह से पर्याप्त व्यवस्थाये न होने की वजह से बंद पड़े हुये है जहा इन हालातों को देखकर इस बात का अंदाजा सहज रूप से लगाया जा सकता है कि जिम्मेदार अधिकारियों की सह के चलते यह स्वच्छ भारत मिशन को जमकर पलीता लगाया गया है।

खुले में शौच जा रहे ग्रामवासी –

भले ही स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत लोगो को खुले में शौच क्रिया करने से रोकने सरकार द्वारा भरसक प्रयास किये जा रहे है। इस गांव में लोगो को मजबूरी में खुले में शौच क्रिया करने जाना पड़ता है। ग्राम के लोगों ने बताया कि यहाँ बनाये गए शौचालय किसीं काम के नही है गिने चुने है जिनमे जाना तो दूर देखने में ही डर लगने लगता है की कही गिर न जाए । जिसके डर भए के कारण ही  महिलाओ बच्चो पुरषों सभी को खुले में ही शौच क्रिया करने जाना पड़ता है।  गांव में जो घटिया किस्म के सोचालय बनबाये गए है अधिकांस बंद पड़े हुए है या फिर खेत की बिजूके की तरह खड़े हुए है । गांव में किये गए भ्रष्टाचार की बात किसीं से छुपी नही है भले ही कागजो में कितने भी शौचालय दर्ज हो लेकिन काम का एक भी नही है सभी लोग बाहर ही शौच क्रिया करने जाते है

इनका कहना –

आपके द्वारा जानकारी प्राप्त हुई है। यह गंभीर बात है मैं सक्रियता से इसकी जांच करूँगा जांच के बाद कार्यवाही की जायेगी।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s