बालू माफियाओं के खिलाफ लिखना पत्रकार को पड़ा मेंहगा,तमंचा लगा कर हुई लूट व मिलने लगी जानमाल की धमकी …

​◆ गोहन पुलिस ने नही लिखी रिपोर्ट, बल्कि उल्टा पत्रकार को फसाने में लगी।

◆ पुलिसिया मिली भगत से बालू माफियाओं के हौंसले हैं बुलन्द

◆ पीड़ित पत्रकार ने घटना की सूचना एसपी व उच्चाधिकारियों को फोन पर दी


गोहन/जालौन : अवैध खनन का विरोध करने से बौखलाये दबंगों ने पुलिस की शह पर पत्रकार को रास्ते में घेर लिया और मारपीट करते हुये तमंचे की नौक पर लूट लिया। घटना के बाद पत्रकार की सूचना पर डायल 100 की गाड़ी मौके पर पहुंची और उसने भी वारदात की पूरी तरह मालूमात कर ली लेकिन एस ओ  का आशीर्वाद दबंगों को होने के कारण मुकदमा दर्ज करने में टाल मटोल की जा रही है। पेशबंदी में एसओ की शह पर पीड़ित पत्रकार के विरूद्ध भी एक प्रार्थनापत्र दिला दिया गया है। जिससे उनके हौंसले बुलंद हो गये हैं। आशंका जताई जा रही है कि अगर उच्चाधिकारियों ने हस्तक्षेप न किया तो दबंगों द्वारा पत्रकार के साथ कोई और गम्भीर घटना की जा सकती है।

गोहन थाना क्षेत्र में मौरम भरे ओवर लोड ट्रैक्टर और ट्रकों के आवागमन का विरोध करते हुये क्षेत्र के अत्यंत सक्रिय पत्रकार नीलेन्द्र सिंह राजावत नीलू ने जालौन टाईम्स और न्यूज एक्सप्रेस न्यूज पोर्टल पर कई बार समाचार वायरल कराये थे जिसे जौनल आईजी और रेंज डीआईजी ने संज्ञान में लेकर जिले की पुलिस को कड़ी हिदायत जारी की थी। एसओ पर आरोप है कि उनके द्वारा ओवरलोड परिवहन करने वालों से मोटी रकम वसूली जाती थी लेकिन पत्रकार नीलू राजावत के द्वारा मामला उछाले जाने और इसके नतीजे में एसओ के खिलाफ जांच शुरू हो जाने से उन्होंने पत्रकार को सबक सिखाने का इरादा बना लिया।

एसओ की मिलीभगत के कारण ट्रैक्टरों से अवैध मौरम ढ़ोने वाले दबंगों ने कल 20 जून को शाम को नीलू को फोन पर जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद जब नीलू किसी काम से जा रहे थे। उस समय गोहन चैराहे के पास मंगलसिंह, कल्लू राजपूत, मिस्कू व एक अन्य अज्ञात व्यक्ति ने उन्हें घेर लिया और गालियां देते हुये कान पर तमंचा लगाकर एक मोबाईल, सोने की चैन व 3700 रूपये छीन लिये। इस बीच हंगामा सुनकर आस-पास से लोग दौड़े तो चारों धमकी देते हुये भाग गये। नीलू ने डायल 100 को भी फोन किया। साथ ही फोन पर एसपी और उच्चाधिकारियों को घटना के बारे में अवगत कराया।

वारदात के बारे में सब जानते हुये भी एसओ ने नीलू का मुकदमा न लिखकर उनको टरकाते रहे। आज नीलू ने क्षेत्र के कई प्रतिष्ठित लोगों के साथ एसपी से मुलाकात की। उनका प्रार्थना पत्र लेकर एसपी ने कार्यवाही का आश्वासन देते हुये जांच के लिए सीओ कोंच को भेज दिया है। उधर नीलू के एसपी के पास पहुंचने का पूर्वानुमान होने की वजह से एसओ गोहन खुद आरोपियों को लेकर जिला मुख्यालय पर आये और जबावी मामला बनाने के लिए उनका प्रार्थना पत्र भी एसपी को दिलवा दिया। इस बीच पता चला है कि आरोपी दबंग पीड़ित पत्रकार के परिजनों को भी फोन पर धमकियां दे रहे हैं। जिसकी आॅडियो रिकाॅर्डिंग की कैसेट भी एसपी को दी गई है।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s