एसडीएम कोंच पर लेखपालों के साथ अभद्रता और असंसदीय भाषा के इस्तेमाल का आरोप …


(रिपोर्टर : पी.डी.रिछारिया,कोंच)
कोंच/जालौन। पिछले एक सप्ताह से एसडीएम का बहिष्कार कर रहे लेखपालों ने अब अपना उग्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है। यहां एसडीएम के साथ होने बाली साप्ताहिक बैठक का भी लेखपालों ने बहिष्कार कर दिया है और उनके खिलाफ जमकर नारेबाजी की। लेखपालों ने फैसला लिया है कि जब तक एसडीएम कोंच का यहां से अन्यत्र तबादला नहीं हो जाता है तब तक वे एसडीएम के साथ काम काज नहीं करेंगे। इस बाबत लेखपाल संघ ने एसडीएम को भी पत्र देकर अवगत करा दिया है।

लेखपाल संघ का आरोप है कि गुजरी 27 जून को एसडीएम कोंच ने तहसील क्षेत्र के लेखपालों को अपने चेंबर में बुला कर उन्हें कथित रूप से अपमानजनक और असंसदीय शब्दों से नवाजा था जिससे लेखपाल बिफर गये और एसडीएम के इस आचरण के खिलाफ उन्होंने उसी दिन मोर्चा खोल दिया था। लेखपालों ने नारेबाजी करते हुये एसडीएम का विरोध भी किया था, इसके अलावा लेखपाल संघ के बैनर तले उन्होंने एक पत्र भी जिलाधिकारी को पंजीकृत डाक से भेजा था जिसमें उन्होंने मांग की थी कि मौजूदा परिस्थितियों में एसडीएम के साथ कार्य करना संभव नहीं है। लेखपालों का कहना था कि इनका यहां से अन्यत्र तबादला कर दिया जाये अन्यथा वह इनके साथ किसी भी सूरत में कार्य नहीं करेंगे। लेखपाल संघ ने एक सप्ताह की मोहलत देते हुये यह भी चेतावनी थी कि यदि इन्हें यहां से हटाया नहीं गया तो वह आंदोलन के लिये बाध्य होंगे। बहरहाल, अभी लेखपाल संघ आंदोलन की राह पर तो नहीं बढा है लेकिन एसडीएम के साथ गतिरोध जरूर बना लिया है। यहां एसडीएम ने जब साप्ताहिक बैठक के लिये लेखपालों को सभागार में बुलाया तो लेखपालों ने उक्त बैठक का बहिष्कार कर दिया और हंगामा भी किया। लेखपाल संघ ने आपात बैठक बुला कर एक बार फिर डीएम को पत्र भेज कर स्मरण कराया है कि उनके पूर्व में भेजे गये पत्र पर त्वरित संज्ञान लिया जाये और जरूरी कार्यवाही की जाये, जब तक समस्या का निराकरण नहीं किया जाता है तब तक वे एसडीएम की बैठकों का बहिष्कार जारी रखेंगे। पत्र की प्रतियां संघ की जिला इकाई, प्रदेश इकाई तथा कमिश्नर झांसी को भी भेजी गई हैं। लेखपाल संघ तहसील इकाई के अध्यक्ष प्रेमनारायण मिश्रा का कहना है कि एक अधिकारी को शाब्दिक मर्यादाओं का ध्यान रखना चाहिये, एसडीएम महोदय ने जिस तरह की भाषा का प्रयोग किया है उसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को जिला पदाधिकारी भी कोंच आ रहे हैं और बैठक करके जो भी फैसला होगा, उसी के अनुरूप कार्य किया जायेगा। बैठक में सुरेशचंद्र खरे, अनिलकुमार सिंह, कमलकांत शिवहरे, अशोक राजपूत, प्रमोद पाठक, विजयसिंह निरंजन, संतराम पाल, वीरसिंह, नरेन्द्र गुप्ता, काशीप्रसाद, चंद्रप्रकाश, अंकुर,अंकिता श्रीवास्तव, हेमलता, संजना, आरती, दिलीप, शिवम, सुयश आदि मौजूद रहे।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s