कालपी में जी.एस.टी. के नाम पर लूट, ठगी का शिकार हो रही नगर की भोली भाली जनता …

बड़े व्यापारियों ने बड़े पैमाने पर स्टॉक कर रखा माल, अब वसूल रहे 28 फीसदी तक जी.एस.टी.

बिना बिल के दिसम्बर, जनवरी व फरवरी के माल पर वसूला जा रहा जी.एस.टी.

53553710-9c85-4702-b251-c455732e9f75

कालपी (जालौन) शिवांग शुक्ला – महीने भर में करोड़ीमल बनने की जद्दोजहद में लगे नगर के बड़े व्यापारियों ने जी० एस० टी० की आड़ में मोटी रकम कमाने का एक नायाब तरीका खोज निकाला है। जुगाड़विद्या के मामले में विख्यात भारत देश के नगर कालपी में जी० एस० टी० के नाम पर कैसे हो रही है खुलेआम लूट, पढ़ें पूरी खबर। नगर कालपी के बड़े व्यापारियों ने जी० एस० टी० लागू होने के महीनों पहले से ही माल स्टॉक करना शुरू कर दिया था, जिसके बाद 1 जुलाई को जी० एस० टी० लॉन्च हुआ व 9 जुलाई को जी० एस० टी० लागू हुआ। जी० एस० टी० लागू होने के बाद बड़े व्यापारियों ने स्टॉक किया हुआ माल बाज़ारों में छोटे दुकानदारों को उपलब्ध करवाया व उनसे 10 से 28 फीसदी बिना पक्का बिल दिए जी० एस० टी० भी वसूल किया। अतः बाजार में अचानक जी० एस० टी० के नाम पर महंगाई चरम पर पहुँच गयी।

अब यहां पर प्रश्न उठता है कि जब जी० एस० टी० 1 जुलाई 2017 को लॉन्च हुआ तो भला उससे पहले की पैकिंग वाली वस्तुओं पर जी० एस० टी० कहाँ से आ गया?

नगर में जी० एस० टी० के नाम पर सबसे ज्यादा लुटाई पान मसाला बेचने वाले बड़े व छोटे व्यापारी करने में मशगूल हैं, नगर में राजश्री, केसर, विमल, कमला पसन्द, पान बहार आदि के थोक विक्रेता स्टॉक किये हुए दिसम्बर, जनवरी की पुरानी पैकिंग के पैकेटों में 30 से 40 रुपये तक का अवैध शुल्क जी० एस० टी० के नाम पर वसूल रहे हैं, व फुटकर विक्रेता प्रति पाउच 1 से 2 रुपये तक अतिरिक्त शुल्क जी० एस० टी० के नाम पर वसूल कर रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों से जुड़ी हुई भोलीभाली जनता को जी० एस० टी० के नाम पर ठग रहे ये व्यापारियों के जुगाडविद्या की तो जानकारी नही, जनता तो सीधा मोदी सरकार को ही कोसती हुई नजर आती है।

जी० एस० टी० के बहाने बिना पक्का बिल दिए नगर में चल रही लुटाई पर नियंत्रण हेतु चाहिए कि कोई नोडल अधिकारी मामले को गंभीरता से लेते हुए ठगी का शिकार हो रही जनता के हित में चतुरसुजान व्यापारियों की दुकानों में जांच परख करे व बड़े स्टॉकिस्टों के गोदामों में छापेमारी करे। जी० एस० टी० के नाम पर उगाही करने का दोषी पाए जाने पर व्यापारी को जनता से बेईमानी व कपट के लिए भारतीय दंड संहिता की धारा 419, 420 व 467 के तहत कानूनी कार्यवाही करके सबक सिखाया जाए।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s