अज्ञात बीमारी से हरे-भरे वृक्षों की अकाल मौत …

◆ वृक्ष के अंदर सफेद मोटा लंबा कीड़ा खा रहा है उनका जीवन

◆ जगम्मनपुर क्षेत्र में सैकड़ों पेड़ों के कंकाल

◆ वन विभाग की लापरवाही एवं बदनियती

जगम्मनपुर (जालौन) विजय द्विवेदी। क्षेत्र में हरे भरे पेड़ों के बीच कोई अज्ञात बीमारी फैल जाने से सैकड़ों की संख्या में वृक्ष सूख गए हैं। पचनद क्षेत्र जगम्मनपुर एवं उसके आसपास तथा रामपुरा रोड पर सैकड़ों की संख्या में समय से पहले सूख गए हैं। इन पेड़ों को जब काट देखा गया तो इनके भीतर 2 इंच लंबा सफेद मोटा कीड़ा निकलता है। इससे यह प्रमाणित होता है कि इन हरे-भरे वृक्षों की सूखने का कारण यही कीडा है। यह आलम किसानों के ग्रामीणों के स्वयं की जमीन पर उगे सैकड़ों वृक्षों के साथ-साथ वन विभाग की जमीन पर लहलहाते वृक्षों का भी है ।

वन विभाग की लापरवाही एवं बदनियती :

आश्चर्यजनक तथ्य यह है कि वन विभाग जिस पर नए वृक्ष लगाने की जिम्मेदारी तथा लगे हुए वृक्षों का रखरखाव करने का दायित्व है लेकिन वन विभाग के कर्मचारी एवं अधिकारी प्रतिवर्ष लाखों रुपया रखरखाव के नाम पर एवं वृक्षारोपण के नाम पर डकार जाते हैं और कभी भी क्षेत्र के लक्ष्यों के रखरखाव का उचित प्रबंध नहीं किया जाता है सबसे ज्यादा दुखद तो यह है कि यह कर्मचारी लकड़ी माफियाओं से सांठगांठ करके ढेर सारी लकड़ी कटवाकर बाजारों में बिक्री करने के लिए भिजवा देते हैं। गत 2 वर्षों पूर्व क्षेत्रीय समाजसेवी विजय द्विवेदी जगम्मनपुर ने वन विभाग से जनसूचना अधिकार अधिनियम के तहत जानकारी चाहिए थी कि पिछले 10 वर्ष में वन विभाग ने बंगरा क्षेत्र में कितने नए वृक्ष रोपित किए तथा पहले कितनी वृक्ष थी और अब कितनी वृक्ष है लेकिन अधिकारियों की लापरवाही यह रही इस विषय की जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गई।

वनस्पति विशेषज्ञ भेजकर जांच कराई जाए :

क्षेत्र में जितने वृक्ष सूखे हैं या सूखने की कगार पर हैं उन वृक्षों का परीक्षण करवाकर उनके सूखने के कारण की जांच की जाए वह उनका कैसे रख रखाव किया जा सकता है इसके उपाय किए जाना आवश्यक है अन्यथा वह दिन दूर नहीं कि पंचनद का यह हरा-भरा क्षेत्र सूखे जंगल में परिवर्तित हो जाएगा।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s